Thursday, January 20, 2011

सलाह !

उनका एसएम्एस आया था,
लिखा था;
एक तो तेरी जुदाई,
ऊपर से ये बरसात भी
कमबख्त दिल दुखा रही !
क्या करू, याद में जलती
ये आँखे सुर्ख हुई जा रही !!
मैंने भी उनकी बात को
सीरिअसली लिया,
और तुरंत रिवर्ट किया;
प्रिये, जुदाई का गम चखो;
साथ ही अपना ख्याल रखो !
वैसे तो इस बीमारी का आँखों से
सिर्फ एक हफ्ते का ही नाता है,
कंजक्टिवाइटिस का वायरस
गंभीर नुकसान नहीं पहुँचाता है!
फिर भी, तुम आँखे न मलना,
धूप का चश्मा लगाके चलना,
मैं हूँ न, तुम बिलकुल मत डरना !
आई ड्रॉप सिर्फ डाक्टर से
परामर्श पर ही इस्तेमाल करना !!!!

No comments: